मां आद्या शक्ति आरती,अंबे मां आरती

Posted Leave a commentPosted in आध्यात्मिक विचार, चालीसा/आरती

जय आद्या शक्ति, माँ जय आद्या शक्ति,अखंड ब्रह्माण्ड दीपाव्यां (2) पडवे प्रगटतया माँ..ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे… द्वितीय मेहस्वरूप, शिवशक्ति जाणुं, माँ शिवशक्ति जाणुं,ब्रह्मा गणपती गावो (2) हरे गावो हर माँ…ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे… तृतीया त्रण सरूप त्रिभुवनमां बेठा, माँ त्रिभुवनमां बेठादय थकी तरवेणी (2), तमे तरवेणी माँ..ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे… चोथे चतुरा […]

Read more >
ganesh ji ki aarti jivandarshan

श्री गणेशजी की आरती

Posted Leave a commentPosted in चालीसा/आरती

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥ एकदन्त दयावन्त चारभुजाधारी x2 माथे पर तिलक सोहे मूसे की सवारी। जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥ पान चढ़े फूल चढ़े और चढ़े मेवा x2 लड्डुअन का भोग लगे सन्त करें सेवा॥ जय गणेश जय गणेश जय […]

Read more >

हनुमान चालीसा का हिंदी अर्थ (Hanuman Chalisa)

Posted Leave a commentPosted in चालीसा/आरती

हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) दोहा : श्रीगुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुरु सुधारि। बरनऊं रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।। बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार। बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।। चौपाई : जय हनुमान ज्ञान गुन सागर। जय कपीस तिहुं लोक उजागर।। हिंदी अर्थ- श्री हनुमान जी! आपकी जय हो। […]

Read more >