बुरे वक्त में क्या आपके साथ भी होता है ऐसा..तो जरूर पढ़े..

मेरी सोच

हर किसी की ज़िन्दगी में एक बुरा वक्त आता है…तब हम कैसे अपने आप को संभाल कर रखे वो बहुत आवश्यक होता है…आपने वो तो सुना ही होगी कि जब समय बुरा होता है तो “ऊंट पर बैठे आदमी को भी कुत्ता काट लेता है”.. वैसे पुरानी कहावतों के मतलब बहुत गहरे होते है…इसको समझना […]

Read more >

मां आद्या शक्ति आरती,अंबे मां आरती

आध्यात्मिक विचार

जय आद्या शक्ति, माँ जय आद्या शक्ति,अखंड ब्रह्माण्ड दीपाव्यां (2) पडवे प्रगटतया माँ..ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे… द्वितीय मेहस्वरूप, शिवशक्ति जाणुं, माँ शिवशक्ति जाणुं,ब्रह्मा गणपती गावो (2) हरे गावो हर माँ…ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे… तृतीया त्रण सरूप त्रिभुवनमां बेठा, माँ त्रिभुवनमां बेठादय थकी तरवेणी (2), तमे तरवेणी माँ..ॐ जय ॐ माँ जगदम्बे… चोथे चतुरा […]

Read more >

नवरात्री में व्रत कैसे करें ?

आध्यात्मिक विचार

शास्त्र कहता है कि हमें निराहार रहकर शक्ति की आराधना करनी चाहिए ।तथा फलाहार लेना चाहिए । यदि उपवास किया जाता है तो हमें शक्ति की निकटता प्राप्त होती है । भूख लगने पर फल खाने चाहिए। यदि आपके लिए भूखा रहना संभव नहीं हो तो एक टाइम भोजन करें तथा भूख लगने पर फल […]

Read more >
Importance Of Adhikmass,makmass,purushottam mass, by jivandarshan

क्या है अधिकमास,पुरूषोत्तम मास मलमास,ये कब आता है ,इसका महत्व क्या है तथा उसमें क्या करें क्या ना करें ।

आध्यात्मिक विचार

अधिकमास क्यों ? सौर वर्ष का मान 365 दिन,15 घटी, 22 पल, और 57 विपल है । जबकि चांदवर्ष का मान 354 दिन, 22 घटी, 1 पल और 23 विपल होता है। दोनो वर्षो में लगभग ग्यारह दिन का अंतर होता है। सौर वर्ष तथा चांद वर्ष में सामंजस्य स्थापित करने के लिए प्रत्येक तीसरे […]

Read more >
Stop blaming by Jivandarshan

क्या आपके भी हाथ आया लड्डू छीन जाता है

मेरी सोच

दोषारोपण करना बंद करो आज हम जिस मुद्दे पर बात कर रहे है वो है दोषारोपण करना मतलब किसी भी बात के लिए किसी और को जिम्मेदार ठहराना… जैसा कि आप सभी जानते है कि सबसे ज्यादा दोषारोपण हम हमारे भाग्य जिसे आप किस्मत भी कहते हो उसे देते है…फिर जब इससे हमारा पेट भर […]

Read more >
How do you feel about going among people by jivandarshan

आप लोगों के बीच जाकर कैसा महसुस करते है ?

मेरी सोच

लोगो के बीच कैसे जाए हर किसी व्यक्ति की कोई ना कोई एक अलग पहचान होती है जो वक्त के साथ धीरे-धीरे बदलती रहती है…आज हम बात करेंगे लोगो के बीच आप असहज महसुस क्यों करते है.. दोस्तों लोगो के बीच कम महसुस करना या उनसे अलग महसुस करना या फिर उनकें बीच जाने के […]

Read more >
धनवान कैसे बने

धनवान कैसे बने ?, कनकधारा यन्त्र के चमत्कार, अनुभूत प्रयोग

आध्यात्मिक विचार

धनवान बनना प्रत्येक व्यक्ति का हक़ है | प्रत्येक व्यक्ति चाहता है कि वह आर्थिक रूप से सम्पन्न हो | वह उसके लिए प्रयत्न भी करता है परन्तु सभी धनवान नहीं बन पाते है | धनवान कैसे बने हमारे शास्त्रों में धनवान बनने के लिए बहुत मंत्र-तंत्र प्रयोग एवं अनुष्ठान दिए गए है | प्रत्येक […]

Read more >
mahadev by jivandarshan

श्रावण मास की महीमा ( कैसे अपनी मन चाही इच्छा पुरी करे )

आध्यात्मिक विचार

श्रावण मास में कैसे करे अपनी मनोकामना पूर्ण श्रावण मास भगवान शिव की आराधना का महीना है। श्रावण मास शिव को प्रिय है क्योंकि पार्वती जी ने शिव को हर जन्म में पति रूप में प्राप्त करने के लिए निराहार रहकर श्रावण मास में तपस्या की तथा शिवजी को प्रसन्न किया । श्रावण मास में […]

Read more >
What Will people say by jivandarshan

लोग क्या कहेंगे !!!!!!!!!!!

मेरी सोच

हमारी सबसे बड़ी समस्या क्या कहेंगे लोग दोस्तों आज हम बात करेंगे लोगो की मतलब हम सब अपनी आधे से ज्यादा जिन्दगी लोग क्या कहेंगे क्या सोच रहे होंगे , क्या वे गलत है, क्या हम सही है बस इन्ही उलझनो में हम अपना ज्यादा समय बीता देते है… इस बात को बहुत ध्यान से […]

Read more >
parmatma prapta karne ka aasan tarika by jivandarshan

परमात्मा प्राप्ति का सरल तरीका जाने

आध्यात्मिक विचार

कैसे करे परमात्मा की प्राप्ति मेरे गुरूजी सदा कहते है कि यदि परमात्मा का अनुभव करना है तो अपने मन को बालकों के मन की तरह बना लो। स्वयं बालक ही बन जाओ। बच्चों के मन में कोई विकार नहीं होता है। उनका मन निर्दोष होता है । बच्चों का कोई अपमान करे,तो रोने लगता […]

Read more >
mentally strong kaise bane by jivandarshan

मेंटली स्ट्रोग कैसे बने ( Mentally Strong Kaise bane )

मेरी सोच

दोस्तों मेंटली स्ट्रोग बनने के लिए हमे ये सोचना होगा की हम हमारी परेशानियों को किस प्रकार लेते है…मतलब कुछ लोग होते है जो छोटी सी मुश्किल को भी उस प्रकार लेते है मानो उनकें ऊपर पहाड़ टुट पड़ा हो…कुछ लोग ऐसे होते है जो बड़ी से बड़ी मुश्किल को बड़ी आसानी से डील करते […]

Read more >
How to cleanse your karma by jivandarshan

अपने कर्म ( Karma) को शुद्ध कैसे करे

आध्यात्मिक विचार

हमें अपना पुण्य छुपा कर रखना चाहिए तथा यदि हमारा पाप प्रगट हो जाय तो चिन्ता नहीं करनी चाहिए। यदि पाप प्रगट हो तो उसका विनाश हो जाता है । परन्तु सभी लोग अपने पापों को तो छिपा कर रखते है.. तथा पुण्य को प्रगट कर देते है जिससे पुण्य धीरे-धीरे क्षीण होता जाता है.. […]

Read more >