इन पांच लोगों को सोते से जगाया तो खतरा निश्चित – चाणक्य नीति

Posted Leave a commentPosted in काम की बात, चाणक्य नीति

• जहां कोई सेठ, वेदपाठी विद्वान, राजा और वैद्य न हो, जहां कोई नदी न हो, इन पांच स्थानों पर एक दिन भी नहीं रहना चाहिए. • विद्या ही ब्राह्मणों का बल है. राजा का बल सेना है. वैश्यों का बल धन है तथा सेवा करना शूद्रों का बल है. • समान स्तरवालों से ही […]

Read more >

मनुष्य के जीवन का क्या लक्ष्य होता है

Posted Leave a commentPosted in आध्यात्मिक विचार

व्यक्ति को जीवन में क्या करना चाहिये,जीवन का लक्ष्य क्या है, इसका पता नहीं है। खाना-पिना व वंशवृद्धि करना इसका ज्ञान तो पशुओं को भी होता है। व्यक्ति यदि भोगो के पीछे पागल बना रहता है तो पशु व मानव में अंतर क्या है ? जबकि मानव का लक्ष्य हो ना चाहिये प्रभु की प्राप्ति,अपनी […]

Read more >

चाणक्य की इन 15 बातों पर अमल करेंगे तो जीवन में नहीं आएगा कोई संकट

Posted 1 CommentPosted in काम की बात

• शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है. शिक्षित व्यक्ति सदैव सम्मान पाता है. शिक्षा की शक्ति के आगे युवा शक्ति और सौंदर्य दोनों ही दुर्बल हैं. • अज्ञानी के लिए पुस्तकें और अंधे के लिए दर्पण एक समान उपयोगी है. • अपने बच्चों को पहले पांच साल तक अधिक प्रेम करो. 6 साल से 15 साल […]

Read more >

अलग सोच रखो

Posted Leave a commentPosted in पर्सनालिटी डेवलपमेंट, मेरी सोच

दोस्तों हम सभी लोग एक भीड़ का हिस्सा होते है….जैसे दुनियां चलती है वैसे ही चलती है..हम भी उसके साथ चलते है..पर दोस्तों अगर आपको कुछ करना है तो आपकी सोच आपको अलग रखनी होगी…हर बात में आपका मत अलग होना चाहिए…जहां कहीं भी आप बैठे हो या कोई चर्चा चल रही हो वहां जब […]

Read more >

वशीकरण कैसे करे

Posted Leave a commentPosted in आध्यात्मिक विचार

विश्व का प्रत्येक व्यक्ति चाहता है कि दुसरे लोग उसकी इच्छानुसार चले उसकी बात माने उसका विरोध न करे। प्रत्येक पति चाहता है कि उसकी पत्नी उसके कहे अनुसार चले उसी प्रकार प्रत्येक पत्नी चाहती है कि उसका पति उसी का होकर रहे अन्य की ओर आकर्षित न हो इसके लिए पुरूष या स्त्री विज्ञापनों […]

Read more >

मां-बाप गलत होते है बच्चे नहीं

Posted Leave a commentPosted in मेरी सोच, सच का सामना

दोस्तों कभी कोई भी बच्चा अगर गलत काम करता है तो दुनियां उससे मुंह मोड़ लेती है…..साथ ही उस बच्चे के मां-बाप भी अपने बच्चे को ही उसकी गलती की वजह से कोसते रहते है….पर असल में दोस्तों ऐसा बिल्कुल भी नहीं है….असल में बच्चों के मां-बाप ही गलत होते है…. दोस्तों मेरी इस बात […]

Read more >

कैसे करे अमृतपान ?

Posted Leave a commentPosted in आध्यात्मिक विचार

शास्त्रों में समुद्रमंथन की कथा आती है असुरो व देवो ने मिलकर शेषनाग की रस्सी बनाई तथा मंदराचल पर्वत की धुरी बनाकर अमृत प्राप्त करने के लिए समुंद्र मंथन किया। विभिन्न धर्मों में अमृत की चर्चा मिलती है । मुसलिम फकीरों ने इसे आवे-हयात कहा। वेदो में सोमरस का उल्लेख है जिसको पीकर ऋषि –मुनि […]

Read more >

हर काम में है आनंद

Posted Leave a commentPosted in आनंद ध्यान अमृत, प्रेरक प्रसंग

आज का प्रेरक प्रसग यह कहानी सिद्ध करती है कि हर काम में है आनंद बहुत पुरानी बात है एक गांव में कुछ मजदूर पत्थर के खंभे बना रहे थे। तभी वहां से एक संत गुजरे। उन्होंने एक मजदूर से पूछा यहां क्या बन रहा है? उसने कहा देखते नहीं पत्थर काट रहा हूं? संत […]

Read more >

पहले ये जरूर सोच लें कि जरूरत हमारे लिए जरूरी है भी या नहीं..?

Posted 2 CommentsPosted in काम की बात

एक बात अक्सर कही जाती है कि जितनी चादर हो उतने ही पैर फैलाने चाहिए. लेकिन दुनिया में बदलाव जितनी तेजी से हो रहे हैं उतनी ही तेजी से हमारी जरूरतें भी बढ़ती जा रही हैं. दरअसल ये दौर जरूरतों का कम जरूरतें पैदा करने का ज्यादा नजर आने लगा है. मार्केटिंग का फंडा भी […]

Read more >

खुद को सकारात्मक विचारो की ओर कैसे ले जाए…

Posted Leave a commentPosted in मेरी सोच, सच का सामना

दोस्तों अगर सकारात्मक विचारों की बात आती है तो हमारे दिमाग में बड़े-बड़े लोगो की कई बाते घुमने लगती है और आज तक हमने जो कुछ भी पढ़ा है या समझा है वो याद आ जाता है….पर दोस्तों असल में खुद को सकारात्मक करना अपने आपको ब्रह्म बना देने की क्रिया है….मतलब की वो पॉसिबल […]

Read more >

पर्सनालिटी डेवलपमेंट के टिप्स:-

Posted Leave a commentPosted in पर्सनालिटी डेवलपमेंट, मेरी सोच

दोस्तों आज में बहुत दिनों बाद आपके पास आया हूं और जीवन दर्शन शुरू करने का मेरा सबसे बड़ा मकसद था। आज के यूवाओं के लिए कुछ खास चीज़ देना । आज मैं पर्सनालिटी डेवलपमेंट की सीरीज़ शुरू कर रहा हूं जिसमें में हर किसी पोस्ट में पर्सनालिटी डेवलपमेंट के टिप्स दुंगा। तो शुरूआत करते […]

Read more >

सम्पत्ति को कैसे बढ़ाये

Posted Leave a commentPosted in मेरी सोच

दुनियाँ में हर व्यक्ति धनवान बनना चाहता है तथा धन कमाने के लिए कठोर परिश्रम करता है तथा कमा भी लेता है परन्तु धन को बचाकर रखना और बढ़ाना सरल काम नहीं है। तथा जब तक व्यक्ति धन को बचाना और बढ़ाना नहीं जानता कितना भी धन कमा ले परन्तु धनवान नहीं बन सकता। धन […]

Read more >