Change your destiny from the kitchen home Vastu tips jivandarshan

रसोई घर से बदले अपना भाग्य (वास्तु दोष व उपाय भाग -2)

Posted Leave a commentPosted in ज्योतिष ज्ञान, वास्तुशास्त्र

ग्रह स्वामिनी का अधिकतर समय रसोई घर में बीतता है। रसोईघर वास्तु के अनुसार उपयुक्त स्थान पर होने से ग्रह स्वामिनी स्वस्थ रहेगी तथा उसका मन प्रसन्न चित्त रहेगा। गृह स्वामिनी के प्रसन्न रहने से पूरा परिवार सुख शांति का अनुभव करेगा । रसोई घर को आग्नेय कोण अर्थात पूर्व – दक्षिण दिशा में बनवाना […]

Read more >
Easy ways to remove Vastu defects Part 1

वास्तु दोष दूर करने के आसान उपाय भाग – 1

Posted 2 CommentsPosted in ज्योतिष ज्ञान, वास्तुशास्त्र

प्रत्येक व्यक्ति चाहता है कि दिनभर अपनी आजीविका के लिए भागदौड़ करने के पश्चात् जब वह घर लौटे तो वह अपनी मानसिक शांति को प्राप्त कर सकें। उसका मकान उसे स्वस्थ रखें तथा धन समृद्धि में बढ़ोतरी हो। परिवार के सदस्यों के बीच प्रेम भाव बड़े।  यदि आप मकान का नक्शा इंजीनियर से बनवाते हो […]

Read more >

रत्नों का चुनाव कैसे करें ?

Posted Leave a commentPosted in ज्योतिष ज्ञान, राशिफल, समाज

आपकी कुण्ड़ली में चन्द्र जिस राशि में पड़ा हो वह आपकी राशि कहलाती है इस राशि के स्वामी का रत्न धारण करना श्रेष्ठ रहता है क्योंकि चन्द्र जिस राशि में पड़ा हो उसे लग्न की तरह ही माना जाता है। अतः राशि का नंग पहनना व्यक्ति को सफलता अर्जित कराता है तथा गोचर में ग्रहों […]

Read more >

रत्न की अंगुठी कैसे तथा कब धारण करें ?

Posted Leave a commentPosted in ज्योतिष ज्ञान, राशिफल

जो ग्रह अत्यधिक प्रबल होता है वह अनुकूल होने पर जातक को निहाल कर देता है तथा वहीं ग्रह यदि प्रतिकुल हो तो बर्बाद कर देता है। रत्न धारण करने में सर्वाधिक महत्व नक्षत्र को दिया जाता है। नश्रत्र के पहले चरण में रत्न खरीदा जाता है तथा दुसरे चरण में अंगुठी में जड़ाया जाता […]

Read more >
serve parents jivandarshan

हमें माता-पिता की सेवा क्यों करनी चाहिये ?

Posted Leave a commentPosted in आध्यात्मिक विचार, काम की बात, ज्योतिष ज्ञान, सच का सामना, समाज

हमें माता-पिता की सेवा क्यों करनी चाहिये ? जिन्दगी में आप सुखी होना चाहते है , परलोक को भई सुधारना चाहते है तो चौबीस घण्टे में एक बार माता व पिता के चरण स्पर्श करों तथा यदि माता-पिता जीवित न हो या आप माता-पिता से दुर रहते हो तो मन ही मन में उन्हें याद […]

Read more >

शनि को अपना मित्र कैसे बनाए

Posted Leave a commentPosted in ज्योतिष ज्ञान

शनि को अपना मित्र कैसे बनाए परमात्मा ने जीवन आनंदित रहने के लिए दिया है । जाने-अनजाने हमसे ऐसे कर्म हो जाते है जिससें हमें दुखी होना पड़ता है। शनि की साढेसाती चल रही है तथा शनि की महादशा चल रही है सुनते ही व्यक्ति घबरा जाता है। लोगों के मन में शनि का ड़र […]

Read more >

दर्पण तो नहीं आपकी परेशानियों का कारण :-

Posted 1 CommentPosted in ज्योतिष ज्ञान, वास्तुशास्त्र

दैनिक जीवन में हम दर्पण(mirror) का उपयोग करते है दर्पण तीन प्रकार के होते है। 1. उत्तल दर्पण 2. अवतल दर्पण 3. समतल दर्पण घर में हम आयताकार,वर्गाकार,गोलीय,अण्डाकार कोणीय दर्पणों का उपयोग करते है। आजकल अलमारियों पर भी दर्पण लगे हुए होते है । ड्रेसिंग टेबल पर भी दर्पण लगा होता है हम वाश बेसिन […]

Read more >
Vastu Shashtra jivandarshan

क्या आपके मकान में वास्तु दोष तो नहीं… ?

Posted 2 CommentsPosted in ज्योतिष ज्ञान, वास्तुशास्त्र

ऐसा देखा गया है कि व्यक्ति नया मकान बनवाता है और जब उसमें रहने लगता है तब पहले से उसका जीवन जो चल रहा है उसमें उतार-चढ़ाव आता है । कोई तो सफलता की सीढ़ीयाँ चढ़ने लगता है तो वहीं किसी का जीवन मुसीबतों से घिर जाता है। मकान बनाने में वास्तु नियमों का पालन […]

Read more >

12. मीन (PISCES) राशिफल एवं उसके सुख-समृद्धि के उपाय :-

Posted 3 CommentsPosted in ज्योतिष ज्ञान, राशिफल

राशि अक्षर :-  दि,दू,दे,दो,ध,झ,त्र,च,चा,ची प्रकृति एंव स्वभाव : इस राशि का स्वामी गुरू है । इश राशि का जातक शीघ्र क्रोधित होने वाला,चालाक,आलसी प्रवृति का,बोलने में निपुण अर्थात उपदेश व्याख्यान एवं बोलचाल में कुशल,जन्मजात नेतागिरी का गुण रखने वाला , विलासी तथा सहनशील होता है । जातक दयालुता-दानशीलता आदि उत्कृष्ठ गुणों वाला,बहुत सच्चे आध्यात्मित गुण […]

Read more >

11. कुंभ (AQUARIUS) राशिफल एवं उसके सुख-समृद्धि के उपाय :-

Posted 2 CommentsPosted in ज्योतिष ज्ञान, राशिफल

राशि अक्षर :- गू,गे,गो,स,सा,सी,सू,से,सो,श,द,दा । प्रकृति एंव स्वभाव : कुंभ राशि का स्वामी शनि है । जातक दान-पुण्य में रूचि वाला, परोपकार की स्वाभाविक सुझ-बुझ वाला ,भोग-विलास मे रूचि रखने वाला , मनोरंजन प्रिय, गर्म स्वभाव का,निर्भय तथा अभिमानी प्रवृति का , कंजुस प्रवृति का, दूसरो से ईष्या करने वाला, प्रत्येक बात पर अधिक विचार […]

Read more >

10. मकर (CAPRICORN) राशिफल एवं उसके सुख-समृद्धि के उपाय :-

Posted Leave a commentPosted in ज्योतिष ज्ञान, राशिफल

राशि अक्षर :-  भो,ज,जा,जी,ख,खा,खी,ग,गा,गी,ज्ञ प्रकृति एंव स्वभाव : मकर राशि का स्वामी शनि है । जातक आध्यात्मिक विचारों वाला ,दार्शनिक प्रवृति का ,एकान्त में रहने वाला , प्रेम समबन्ध में स्त्री की सलाह अधिक मानने वाला , कर्म को मुख्य मानने वाला, अत्यन्त विद्दतापूर्ण रूचि वाला , अपरम्परागत संगीत ओर अनुशासन को महत्व देने वाला,दानशील […]

Read more >

9. धनु (SAGITTARIUS) राशिफल एवं उसके सुख-समृद्धि के उपाय :-

Posted Leave a commentPosted in ज्योतिष ज्ञान, राशिफल

राशि अक्षर :-  ये,यो,भ,भा,भी,भू,भे,ध,फ,ढ़ । प्रकृति एंव स्वभाव : इसका स्वामी गुरू है। धनुराशि का जातक सात्विक प्रवृति वाला, लिखने वाला , भाषण देने मे पारंगत होता है। यह परिश्रमी ,क्रोध करने वाला , कंजुस प्रवृति का , अभिमानी प्रवृति का तथा प्रतिभाशाली होता है । इनसे जो व्यक्ति जैसा व्यवहार करता है ये भी […]

Read more >